पुरानी पेंशन की क्यों हो रही मांग, नई पेंशन सिस्टम से यह कितना अलग? दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे लाखों कर्मचारी

Old Pension Scheme Latest News: पुरानी पेंशन की क्यों हो रही मांग, नई पेंशन सिस्टम से यह कितना अलग? दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे लाखों कर्मचारी, आज हम इसी के बारे में बात करने वाले है की OPS Vs NPS यानि Old Pension Scheme क्या है पुराने पेंसन और नया पेंसन में क्या अंतर है।

Old Pension Scheme Latest News

Old Pension Scheme Latest News: (OPS Vs NPS )

1 अक्टूबर, 2023 को दिल्ली के एक बड़े पार्क, जिसे रामलीला मैदान कहा जाता है, में सरकार के लिए काम करने वाले बहुत सारे लोग इकट्ठा होते हैं। वे चाहते हैं कि पुरानी पेंशन व्यवस्था वापस आये. वे नई पेंशन व्यवस्था का विरोध कर रहे हैं. दिल्ली के रामलीला मैदान में कई सरकारी कर्मचारी एक साथ आए हैं. वे चाहते हैं कि पुरानी पेंशन व्यवस्था फिर से लागू हो. आप सोच रहे होंगे कि पुरानी पेंशन व्यवस्था क्या है और यह नई से कैसे अलग है।

पुरानी पेंशन योजना उन लोगों के लिए है जिन्होंने 2004 से पहले काम करना बंद कर दिया था। उन्हें हर महीने एक निश्चित राशि मिलती है जो कि काम करना बंद करने के बाद उनकी कमाई के आधार पर होती है। लेकिन जिन लोगों ने 2004 के बाद काम करना बंद कर दिया उन्हें एक अलग तरह की पेंशन मिलती है जिसे नई पेंशन योजना कहा जाता है।

पुरानी पेंशन योजना और नई पेंशन योजना में अंतर

पुरानी पेंशन योजना (Old Pension Scheme) तब होती है जब सरकारी कर्मचारी सेवानिवृत्त होने पर अपने वेतन का आधा हिस्सा पेंशन के रूप में प्राप्त करते हैं। इस पेंशन के लिए उन्हें अपने वेतन से कोई पैसा नहीं देना पड़ता है और सरकार अपने पैसे से इसका भुगतान करती है। उन्हें ग्रेच्युटी नामक एकमुश्त राशि भी मिल सकती है, और एक फंड है जहां वे पैसे बचा सकते हैं। उन्हें हर छह महीने में जीवन-यापन के खर्च के लिए अधिक पैसा भी मिल सकता है।

नई पेंशन योजना (New Pension Scheme) अलग है. इस योजना में कर्मचारी के वेतन का 10 प्रतिशत हिस्सा उनकी पेंशन के लिए निकाला जाता है और इसमें उनका मूल वेतन और कुछ अन्य पैसे शामिल होते हैं। नई स्कीम शेयर बाजार पर आधारित है, यानी यह पुरानी स्कीम जितनी सुरक्षित नहीं है। सेवानिवृत्ति के बाद निश्चित पेंशन राशि की भी कोई गारंटी नहीं है। नई योजना में टैक्स भी हटा दिया गया है। सेवानिवृत्ति के बाद पेंशन प्राप्त करने के लिए, श्रमिकों को वार्षिकी में कुछ पैसे निवेश करने की आवश्यकता होती है, जो एक विशेष खाता है।

यूनिफार्म सिविल कोड क्या होता है इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी।

पुराने पेंशन योजना क्या है?

पुराना पेंशन योजना, जिसे ओल्ड पेंशन योजना (Old Pension Scheme) भी कहा जाता है, एक सरकारी पेंशन योजना है जो भारतीय सरकार द्वारा चलाई जाती है। इस योजना के अंतर्गत, सरकारी कर्मचारी अपने सेवा काल के बाद पेंशन पाते हैं। इसका मकसद उनकी सामाजिक और आर्थिक सुरक्षा को सुनिश्चित करना है।

पुराने पेंशन योजना में क्या बदलाव हुआ है?

अब हम जानेंगे कि पुराने पेंशन योजना में क्या नवीनतम बदलाव हुआ है।

  1. वेतन सीमा का बदलाव: नई योजना में, कर्मचारियों की वेतन सीमा को बढ़ा दिया गया है, जिससे उनकी पेंशन राशि भी बढ़ जाएगी।
  2. स्वावलंबी पेंशन योजना: स्वावलंबी पेंशन योजना का शुभारंभ किया गया है, जिसमें लोग अपनी पेंशन की निवेश की जिम्मेदारी लेते हैं और इससे अधिक आय प्राप्त कर सकते हैं।
  3. डिजिटलीकरण: पुराने पेंशन योजना में डिजिटलीकरण की प्रक्रिया को तेजी से बढ़ावा दिया गया है, जिससे कर्मचारियों को आसानी से अपनी पेंशन की स्थिति की जानकारी प्राप्त होती है।

पुराने पेंशन योजना के फायदे

पुराने पेंशन योजना के कई फायदे हैं। यहां कुछ मुख्य फायदे हैं:

  1. सुरक्षित पेंशन: यह योजना कर्मचारियों को एक सुरक्षित पेंशन प्रदान करती है, जिससे वे अपने भविष्य के लिए तैयार रहते हैं।
  2. कर सहायता: पुराने पेंशन योजना के तहत कर्मचारी को अपनी कर सहायता मिलती है, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार होता है।
  3. सामाजिक सुरक्षा: यह योजना कर्मचारियों को सामाजिक सुरक्षा की भावना दिलाती है, जिससे उनका आत्मविश्वास बढ़ता है।

पुराने पेंशन योजना की नवीनतम खबरें

अब हम आपको पुराने पेंशन योजना की नवीनतम खबरों के बारे में बताएंगे:

  1. निवेश विकल्पों का विस्तार: सरकार ने पुराने पेंशन योजना के तहत निवेश विकल्पों का विस्तार किया है, जिससे कर्मचारी अपने पैसे को और भी बढ़ावा दे सकते हैं।
  2. पेंशन प्राप्ति की प्रक्रिया में सुधार: पुराने पेंशन योजना की पेंशन प्राप्ति की प्रक्रिया में सुधार किया गया है, जिससे कर्मचारी अपनी पेंशन की राशि को आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

नए योजना का फायदा

यदि आप नए पेंशन योजना के बारे में जानकार हैं, तो इसमें कुछ महत्वपूर्ण फायदे हैं:

  1. आय और निवेश का विकल्प: नई योजना में आपको अपने निवेश का विकल्प चुनने का मौका मिलता है, जिससे आप अपनी पेंशन की राशि को बढ़ा सकते हैं।
  2. वेतन सीमा का बढ़ना: नई योजना में वेतन सीमा को बढ़ा दिया गया है, जिससे आपकी पेंशन राशि भी बढ़ जाएगी।
  3. ऑनलाइन सुविधाएं: नई योजना के तहत, पेंशन प्राप्ति की प्रक्रिया को ऑनलाइन किया गया है, जिससे आपको किसी भी प्रकार की पेपरवर्क की चिंता नहीं होती है।

नये पेंशन योजना की तुलना

पुराने और नए पेंशन योजना की तुलना करते समय, आपको यह निर्णय लेना होगा कि कौनसा योजना आपके लिए बेहतर है। आपकी आय, निवेश की क्षमता, और आवश्यकताओं के आधार पर आपको अपना चयन करना होगा।

Old Pension Scheme : किस राज्य में लागू है

पुरानी पेंशन योजना कुछ राज्यों में उपलब्ध है। कुछ लोगों को नई पेंशन योजना पसंद नहीं आई तो वे पांच राज्यों में पुरानी पेंशन योजना वापस ले आए। इसका मतलब है कि इन राज्यों में कर्मचारियों को बिना कोई पैसा निकाले हर महीने पूरी पेंशन मिलेगी। पुरानी पेंशन योजना राजस्थान में शुरू हुई और फिर इसे छत्तीसगढ़, झारखंड, पंजाब और हिमाचल प्रदेश में लाया गया।

Old Pension Scheme : सभी विपक्षी दल इस बात पर सहमत हैं कि सरकारी कर्मचारियों को पहले मिलने वाली पेंशन वापस दी जानी चाहिए। बीकेयू और आप के नेता कर्मचारियों के प्रति अपना समर्थन दिखाने के लिए रामलीला मैदान गए। बीकेयू नेता राकेश टिकैत ने कहा कि किसान भी उनके पक्ष में हैं और उनके हितों के लिए लड़ने में मदद करेंगे। आम आदमी पार्टी के संजय सिंह ने कहा कि अगर थोड़े समय के लिए राजनेता बने किसी व्यक्ति को जीवन भर पेंशन मिल सकती है, तो कई वर्षों तक काम करने वाले कर्मचारियों को भी इसके लिए पात्र होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जहां आम आदमी पार्टी की सरकार है वहां अभी भी पुरानी पेंशन दी जा रही है।

समापन

इस लेख में हमने पुराने पेंशन योजना की नवीनतम जानकारी और इसके महत्वपूर्ण पहलुओं को समझाया है। यह योजना सरकारी कर्मचारियों के लिए आर्थिक सुरक्षा की एक महत्वपूर्ण स्रोत है, और आपको अपने वित्तीय भविष्य को सुनिश्चित करने के लिए इसके फायदों का लाभ उठाना चाहिए।

Leave a Comment