एनपीए क्या है? (NPA kya hai in Hindi)

एनपीए क्या है? (NPA kya hai in Hindi): एनपीए का अर्थ है “गैर-निष्पादित परिसंपत्ति” (Non-Performing Asset)। यह एक बैंकिंग शब्द है जो किसी भी ऋण या अग्रिम को दर्शाता है जो 90 दिनों से अधिक समय से बकाया है। इसका मतलब यह है कि ऋणी ने 90 दिनों से अधिक समय से ब्याज या मूलधन का भुगतान नहीं किया है।

NPA kya hai in Hindi

एनपीए क्या है? (NPA kya hai in Hindi)

एनपीए बैंकों के लिए एक बड़ी समस्या है क्योंकि वे बैंक की आय और लाभप्रदता को कम करते हैं। एनपीए बढ़ने से बैंकों के लिए ऋण देने की क्षमता कम हो जाती है, जिससे अर्थव्यवस्था पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

एनपीए के प्रकार:

  • सामान्य एनपीए: यह तब होता है जब ऋणी 90 दिनों से अधिक समय से ब्याज या मूलधन का भुगतान नहीं करता है।
  • उच्च मूल्य वाले एनपीए: यह तब होता है जब ऋण की राशि ₹5 करोड़ या उससे अधिक होती है।
  • मानक एनपीए: यह तब होता है जब ऋणी 12 महीने से अधिक समय से ब्याज या मूलधन का भुगतान नहीं करता है।
  • अनुपयोगी एनपीए: यह तब होता है जब ऋणी 3 साल से अधिक समय से ब्याज या मूलधन का भुगतान नहीं करता है।

यह भी पढ़े : CAA क्या है पूरी जानकारी in Hindi?

एनपीए के कारण:

  • आर्थिक मंदी: आर्थिक मंदी के दौरान, लोगों और व्यवसायों के पास ऋण चुकाने के लिए कम पैसा होता है, जिससे एनपीए बढ़ जाता है।
  • खराब ऋण प्रबंधन: बैंकों द्वारा ऋण देने की खराब प्रक्रियाओं से एनपीए बढ़ सकता है।
  • धोखाधड़ी: कुछ मामलों में, ऋणी ऋण चुकाने से बचने के लिए धोखाधड़ी का सहारा ले सकते हैं।

एनपीए को कम करने के उपाय:

  • आर्थिक सुधार: आर्थिक सुधार से अर्थव्यवस्था को मजबूत करने और लोगों और व्यवसायों के पास ऋण चुकाने के लिए अधिक पैसा उपलब्ध कराने में मदद मिलेगी।
  • बेहतर ऋण प्रबंधन: बैंकों को ऋण देने की बेहतर प्रक्रियाओं को लागू करने की आवश्यकता है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि केवल योग्य उधारकर्ताओं को ही ऋण दिया जाता है।
  • ऋण वसूली: बैंकों को ऋण वसूली के प्रयासों को मजबूत करने की आवश्यकता है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि ऋणी अपने ऋण चुकाते हैं।

अगर कोई खाता एनपीए हो जाता है तो क्या होगा?

  • बैंक खाते पर प्रतिबंध: एनपीए होने पर बैंक आपके खाते पर लेनदेन प्रतिबंध लगा सकता है।
  • ऋण वसूली: बैंक ऋण वसूली के लिए कानूनी कार्रवाई कर सकता है।
  • क्रेडिट स्कोर में गिरावट: आपके क्रेडिट स्कोर में गिरावट आएगी, जिससे भविष्य में ऋण प्राप्त करना मुश्किल हो जाएगा।
  • संपत्ति की जब्ती: बैंक आपके ऋण को चुकाने के लिए आपकी संपत्ति जब्त कर सकता है।

बैंक में एनपीए का मतलब क्या होता है?

एनपीए का मतलब “गैर-निष्पादित परिसंपत्ति” (Non-Performing Asset) होता है। यह एक बैंकिंग शब्द है जो किसी भी ऋण या अग्रिम को दर्शाता है जो 90 दिनों से अधिक समय से बकाया है। इसका मतलब यह है कि ऋणी ने 90 दिनों से अधिक समय से ब्याज या मूलधन का भुगतान नहीं किया है।

एनपीए खाते का निपटारा कैसे करें?

  • ऋण चुकाएं: आप ऋण चुकाकर एनपीए खाते का निपटारा कर सकते हैं।
  • ऋण पुनर्गठन: आप बैंक से ऋण पुनर्गठन के लिए बात कर सकते हैं।
  • एकमुश्त निपटान: आप बैंक से एकमुश्त निपटान के लिए बात कर सकते हैं।
  • ऋण माफी: कुछ मामलों में, बैंक ऋण माफ कर सकता है।

यह भी पढ़े : Lok Sabha Elections 2024: लोकसभा चुनाव 2024, एक विस्तृत विश्लेषण

एनपीए के लिए नए नियम क्या हैं?

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने एनपीए के लिए नए नियम जारी किए हैं। इन नियमों के अनुसार, बैंकों को एनपीए खातों का अधिक तेज़ी से निपटान करना होगा। बैंकों को एनपीए खातों की पहचान करने और उन्हें 90 दिनों के भीतर निपटाने के लिए अधिक सक्रिय रहना होगा।

Leave a Comment