Kartik Maas 2024 Katha: कार्तिक मास व्रत कथा: भगवान विष्णु की भक्ति और फल

Kartik Maas 2024 Katha: कार्तिक मास व्रत कथा: भगवान विष्णु की भक्ति और फल।

Kartik Maas 2024 : इस साल कार्तिक माह Wed, 23 Oct, 2024 – Thu, 21 Nov, 2024 तक है। कार्तिक मास, हिंदू धर्म का एक महत्वपूर्ण महीना है, जो भगवान विष्णु को समर्पित होता है। यह महीना देवताओं का महीना भी कहा जाता है और इस महीने में किए गए व्रत और पूजा का विशेष महत्व होता है।

Kartik Maas 2024 Katha

Kartik Maas 2024 Katha: कार्तिक मास व्रत कथा

2024 कार्तिक महीना (Kartika month) हिन्दू कैलेंडर और पंचांग (विक्रम संवत 2081) | जानें वर्ष 2024 कार्तिक मास के पर्व /त्यौहार , व्रत, उपवास, तिथि और नक्षत्र के बारे में | 2024 में कार्तिक का महीना अक्टूबर 18 को शुरू होता है और नवम्बर 15, 2024 को खत्म होता है|

कार्तिक मास व्रत कथा:

Kartik Maas 2024 Katha: एक समय की बात है, एक गरीब ब्राह्मण था जिसका नाम धनंजय था। वह बहुत ही धार्मिक और भगवान विष्णु का भक्त था। कार्तिक मास आते ही उसने भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए व्रत रखने का निर्णय लिया।

धनंजय ने पूरे महीने श्रद्धा और भक्ति के साथ व्रत रखा। वह प्रतिदिन सुबह जल्दी उठकर स्नान करता और भगवान विष्णु की पूजा करता। वह तुलसी के पत्तों से भगवान विष्णु का अभिषेक करता और “ॐ नमो नारायणाय” मंत्र का जाप करता।

भगवान विष्णु की कृपा:

Kartik Maas 2024 Katha: धनंजय की भक्ति और व्रत से भगवान विष्णु बहुत प्रसन्न हुए। व्रत के अंतिम दिन, भगवान विष्णु ने धनंजय को दर्शन दिए और उसकी मनोकामनाएं पूर्ण करने का वरदान दिया। धनंजय की गरीबी दूर हो गई और उसे धन, समृद्धि और सुख-शांति प्राप्त हुई।

ये भी पढ़े : Holi Kyu Manai Jati Hai : होली क्यों मनाई जाती है?

कार्तिक मास व्रत के लाभ:

  • भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त होती है।
  • मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।
  • जीवन में सुख, समृद्धि और शांति प्राप्त होती है।
  • पापों का नाश होता है।
  • आत्मिक उन्नति होती है।

कार्तिक मास व्रत कैसे रखें:

  • कार्तिक मास के पूरे महीने या किसी भी एक दिन व्रत रखें।
  • सुबह जल्दी उठकर स्नान करें और स्वच्छ वस्त्र धारण करें।
  • भगवान विष्णु की पूजा करें और उन्हें तुलसी के पत्तों से अभिषेक करें।
  • “ॐ नमो नारायणाय” मंत्र का जाप करें।
  • दिन भर व्रत रखें और सत्य बोलें, दूसरों की सेवा करें और दान करें।
  • शाम को भगवान विष्णु आरती करें और व्रत का पारण करें।

निष्कर्ष:

Kartik Maas 2024 Katha: कार्तिक मास व्रत भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त करने का एक अद्भुत अवसर है। इस महीने में व्रत रखने और भगवान विष्णु की पूजा करने से मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं और जीवन में सुख, समृद्धि और शांति प्राप्त होती है।

आपके प्रश्नों के उत्तर: Faqs

कतकी कब है 2024 में कब है?

कतकी, जिसे कार्तिक मास भी कहा जाता है, 2024 में 15 नवंबर से शुरू होगा और 13 दिसंबर तक चलेगा।

संवत 2024 कौन सा वर्ष है?

संवत 2024 2023-2024 का वर्ष है। यह हिंदू कैलेंडर के अनुसार नया साल होगा।

कार्तिक का महीना कब से शुरू हो रहा है?

कार्तिक का महीना 2024 में 15 नवंबर से शुरू होगा।

क्या हिंदू कैलेंडर में 12 महीने होते हैं?

हां, हिंदू कैलेंडर में 12 महीने होते हैं।

हिंदू कैलेंडर के 12 महीने:

  1. चैत्र
  2. वैशाख
  3. ज्येष्ठ
  4. आषाढ़
  5. श्रावण
  6. भाद्रपद
  7. आश्विन
  8. कार्तिक
  9. मार्गशीर्ष
  10. पौष
  11. माघ
  12. फाल्गुन

Leave a Comment